When we talk about lyrics,poems,shayari’s ,the most renowned person that comes to our mind is Gulzar. Sampooran Singh Kalra (born 18 August 1934), known popularly by his pen name Gulzar, is an Indian lyricist, poet, author, screenwriter, and film director.Gulzar Shayari has it’s own beauty and the weight that those lines carry mesmerizes us

In this blog, I share with you some of the very famous gulzar shayari and also my favorite gulzar poems and gulzar quotes.

gulzar shayari

मैंने दबी आवाज़ में पूछा – “मुहब्बत करने लगी हो?”
नज़रें झुका कर वो बोली – “बहुत”

Maine dabee aawaaz mein poochha – “mohabbat karane lagi ho?”
Nazaren jhuka kar vo bolee – “bahot”

gulzar shayari in hindi

शाम से आँख में नमी सी है
आज फिर आप की कमी सी है

shaam se aankh mein namee see hai
aaj phir aap kee kamee see hai

gulzar shayari

खुली किताब के सफ़्हे उलटते रहते हैं
हवा चले न चले दिन पलटते रहते है

khulee kitaab ke safhe ulatate rahate hain
hava chale na chale din palatate rehate hai

gulzar shayari

काँच के पीछे चाँद भी था और काँच के ऊपर काई भी
तीनों थे हम वो भी थे और मैं भी था तन्हाई भी

kaanch ke peechhe chaand bhi tha aur kaanch ke upar kaee bhi
teeno the hum vo bhi the aur main bhi tha tanhaee= bhee

shayari by gulzar

ज़मीं सा दूसरा कोई सख़ी कहाँ होगा
ज़रा सा बीज उठा ले तो पेड़ देती है

zameen sa doosara koi sakhee kahaan hoga
zara sa beej utha le to ped dete hai

gulzar shayari in hindi

हाथ छूटें भी तो रिश्ते नहीं छोड़ा करते
वक़्त की शाख़ से लम्हे नहीं तोड़ा करते

haath chhooten bhi to rishte nahin chhoda karate
waqt ke shaakh se lamhe nahin toda karate

shayari by gulzar

तुम्हारी ख़ुश्क सी आँखें भली नहीं लगतीं
वो सारी चीज़ें जो तुम को रुलाएँ, भेजी हैं

tumhaaree khushk see aankhen bhalee nahin lagati
vo saaree cheezen jo tum ko rulaen, bhejee hain

gulzar shayari in hindi

पल पल रंग बदलती हैं ये दुनिया
और लोग पूछते है कि होली कब हैं।

pal pal rang badaltee hain ye duniya
aur log puchate hai ki holi kab hain.

See also: Romantic shayari,Sad Shayari,Love Shayari,Dard Bhari Shayari

gulzar shayari

आइना देख कर तसल्ली हुई
हम को इस घर में जानता है कोई

aaina dekh kar tasallee huee
hum ko is ghar mein jaanta hai koi

gulzar shayari in hindi

दिन कुछ ऐसे गुज़ारता है कोई
जैसे एहसान उतारता है कोई

din kuch aise guzarta hai koi
jaise ehasaan utaarata hai koi

gulzar shayari

हम ने अक्सर तुम्हारी राहों में
रुक कर अपना ही इंतिज़ार किया

hum ne aksar tumhaaree raahon mein
ruk kar apana hi intizaar kiya

gulzar best shayari

आप के बाद हर घड़ी हम ने
आप के साथ ही गुज़ारी है

aap ke baad har ghadi hum ne
aap ke saath hi guzaaree hai

gulzar shayari

बहुत मुश्किल से करता हूँ तेरी यादों का कारोबार,
मुनाफा कम है पर गुजारा हो जाता है !!

bahut mushkil se karta hoon tere yaadon ka kaarobaar,
munaafa kum hai par gujaara ho jaata hai !!

gulzar best shayari

दिल पर दस्तक देने कौन आ निकला है,
किस की आहट सुनता हूँ वीराने में !!

dil par dastak dene kaun aa nikala hai,
kis kee aahat sunata hoon veeraane mein!!

zindagi gulzar hai

पलक से पानी गिरा है, तो उसको गिरने दो,
कोई पुरानी तमन्ना, पिंघल रही होगी !!

palak se paani gira hai, to usko girane do,
koi puraane tamanna, pinghal rahee hoge !!

gulzar best shayari

सिर्फ एक दफ़ाह पलटकर उसने,बीती बातों की दुहाई दी है,
फिर वहीं लौट के जाना होगा,यार ने कैसी रिहाई दी है !!

sirf ek dafaah palatakar usane,beete baaton kee duhaee dee hai,
phir vaheen laut ke jaana hoga,yaar ne kaisee rihaee dee hai!

gulzar best shayari

सुनो जरा रास्ता तो बताना,
मोहब्बत के सफर से वापसी है मेरी !!

suno jara raasta to bataana,
mohabbat ke safar se vaapasi hai mere!!

gulzar best shayari

हजारों ख्वाब टूटते है, तब कहीं एक सुबह होती है
हाथ छूटें भी तो रिश्ते नहीं छोड़ा करते
वक़्त की शाख़ से लम्हे नहीं तोड़ा करते।

hajaaron khvaab tootate hai, tab kaheen ek subah hotee hai
haath chhooten bhee to rishte nahin chhoda karte
waqt ke shaakh se lamhe nahin toda karte.

zindagi gulzar hai

अब शाम नहीं होती, दिन ढल रहा है…
शायद वक़्त सिमट रहा है !!

ab shaam nahi hoti , din dhal raha hai…
shaayad vaqt simat raha hai!!

gulzar shayari

तुझको पाने की ख्वाहिश दिल मे लेकर घूम रहे है,
बस अपनी हकीकत से यूँ ही रोज मुह मोड रहे है !

tujhko paane ki khvaahish dil me lekar ghum rahe hai,
bas apni hakeekat se yoon hi roj muh mod rahe hai!

zindagi gulzar hai

नजरों का खेल ही तो था सरकार……
तुम चुरा ना सकी और हम हटा नही सके !!

najaron ka khel hi to tha sarakaar……
tum chura na sakee aur ham hata nahi sake

shayari by gulzar

जिंदगी जीना है तो तकलीफ उठानी पड़ेगी ही,
वरना मरने के बाद जलने का एहसास तक नहीं होता !

jindagee jeena hai to takaleef uthaanee padegi hi,
varana marane ke baad jalane ka ehasaas tak nahi hota!

gulzar shayari

जिंदगी ने सवाल बदल दिए, समय ने हालत बदल दिए,
हम तो वही है यारों पर लोगो ने अपने ख़्याल बदल दिए !

jindagee ne savaal badal die, samay ne haalat badal diye,
ham to vahi hai yaaron par logo ne apane khyaal badal diye !

Love staus shayari


तुम पर भी यकीन है मौत का भी ऐतबार है
देखते है तुम दोनों में पहले कौन मिलता है,
मुझे दोनों का इंतजार है !


Tum par bhi yakeen hai maut ka bhi aitabaar hai
Dekhate hai tum dono mein pehale kaun milta hai,
Mujhe dono ka intejaar hai !

gulzar status


रात भर बातें करते हैं तारे… रात काटे कोई किधर तन्हा

See also : Good morning status,Good night Status,Suvichar,Happy Status

gulzar ki shayari in hindi

ख़ुशबू जैसे लोग मिले अफ़्साने में…
एक पुराना ख़त खोला अनजाने में..

khushaboo jaise log mile afsaane mein…
ek puraana khat khola anajaane mein..

gulzar ki shayari in hindi

अच्छी किताबें और अच्छे लोग
तुरंत समझ में नहीं आते हैं,
उन्हें पढना पड़ता हैं

Achche kitaaben aur achchhe log
Turant samajh mein nahi aate hain,
Unhe padhna padata hain

gulzar ki shayari in hindi

कुछ अलग करना हो तो
भीड़ से हट के चलिए,
भीड़ साहस तो देती हैं
मगर पहचान छिन लेती हैं

Kuchh alag karana ho to
Bheed se hat ke chaliye,
Bheed saahas to dete hain
Magar pahachaan chhin letee hain

gulzar ki shayari in hindi

एक सो सोलह चाँद की रातें
एक तुम्हारे कंधे का तिल
गीली मेहँदी की खुश्बू
झूठ मूठ के वादे
सब याद करादो, सब भिजवा दो
मेरा वो सामान लौटा दो

Ek so solah chaand kee raaten
Ek tumhaare kandhe ka til
Geelee mehandee ki khushboo
Jhooth mooth ke vaade
Sab yaad karaado, sab bhijava do
Mera vo saamaan lauta do

shayri by gulzar

ना दूर रहने से रिश्ते टूट जाते हैं
ना पास रहने से जुड़ जाते हैं
यह तो एहसास के पक्के धागे हैं
जो याद करने से और मजबूत हो जाते हैं

na door rahane se rishte toot jaate hain
na paas rahane se jud jaate hain
yah to ehasaas ke pakke dhaage hain
jo yaad karane se aur majaboot ho jaate hain

gulzar poem

शब्द नए चुनकर कविता हर बार लिखू
उन दो आँखों में अपना सारा प्यार लिखू
वो में विरह की वेदना लिखू
या मिलन की झंकार लिखू
कैसे इन चंद लफ्जो में दोस्तों अपना सारा प्यार लिखू

Shabd nae chunakar kavita har baar likhuun
Do aankhon mein apana saara pyaar likhu
Mein vo virah kee vedana likhu
Ya milan kee jhankaar likhu
Kaise in chand lafzo mein doston apana saara pyaar likhu

See also : Motivational Quotes , Rahat Indori Shayari , Maa Shayari

shayri by gulzar

Aaina dekh kar tasalli hui
ham ko is ghar men jaanta hai koi

gulzar love status

Shaam se aankh men nami si hai
aaj phir aap ki kamī si hai

shayri by gulzar

Waqt rehta nahin kahin tik kar
aadat is ki bhi aadmi si hai

gulzar love status

Saccha Pyar To Sirf Ek Taraf Se Hota Hai,
Jo Dono taraf se ho jaye toh usse Kismat kehte hai.

gulzar love shayari

Lakh tumhe chahane wale Honge,
Lekin tumhe mehsus sirf maine kiya hai.

shayri by gulzar

Dil Haar kar dekhiye janab jitne wale Se Pyar Ho Jayega

shayri by gulzar

Kuchh Naya paane ke liye wo mat dena Jo Pehle Se tumhara Hai

shayri by gulzar

Jise Nind nahi aati unhen Maloom Hai
Subah Hone mein kitne jamane Lagte Hai.

gulzar love shayari

Mujhe Chhodane Ki vajah Toh Bata Dete,
Mujhse naraj the ya fir Mujh jaise hazar the.

shayri by gulzar

Tujhe uss Najar Se Dekha Hai,
Jis Najar se Tujhe Najar Na Lage.

gulzar love status

Agar Pata rahata itne tadapaati Hain Mohabbat
Toh Dil jodne Se Pahle Hath Jod lete.

shayri by gulzar

Nafrat Mat Karna Humse Bura lagega hame,
bas pyar se keh dena ab jarurt nhi Tumhari.

gulzar quotes

Mat Milwaya kar unhe E-Khuda, jinhe tu mila Nhi sakta.

gulzaar romantic shayari

Har tarika aazma chuka hu tujhe manane ka,
Kaha se seekh ke aaye ho ye andaaz rooth jane ka.

shayri by gulzar

Roz nayi takleef roz naya gum,
Jane kab aeilaan hoga ki mar gaye hum.!!

gulzar quotes

Kaisa khel khela kismat ne mere sath,
Dil me dard aur chehre par muskaan liye firte hai hum.!!

gulzaar quotes

रात चुपचाप दबे पांव चली जाती है .. रात ख़ामोश है रोती नहीं, हंसती भी नहीं

gulzaar love shayari

वो उदास उदास इक शाम थी,एक चेहरा था इक चिराग़ था….
और कुछ नहीं था ज़मीन पर,इक आसमां का ग़ुबार था

gulzar quotes

तुम्हारे ख्वाब से हर शब लिपट के सोते हैं…
सजाएं भेज दो ,हमने खताएं भेजी हैं

gulzar love shayari

आदतन तुमने कर दिए वादे….
आदतन हमने ऐतिबार किया

gulzar quotes

सहर न आई कई बार नींद से जागे…
थी रात रात की ये ज़िंदगी गुज़ार चले

gulzar love shayari

कभी तो चौंक के देखे कोई हमारी तरफ़…
किसी की आँख में हम को भी इंतिज़ार दिखे

See also : Mahadev status , 2-line shayari , whatsapp status

gulzar poetry hindi

जहां तेरे पैरों के कँवल गिरा करते थे
हँसे तो दो गालों में भँवर पड़ा करते थे
तेरी कमर के बल पे नदी मुड़ा करती थी
हंसी को सुनके तेरी फ़सल पका करती थी
छोड़ आए हम वो गलियां

जहाँ तेरी एड़ी से धूप उड़ा करती थी
सुना है उस चौखट पे अब शाम रहा करती है
लटों से उलझी लिपटी रात एक हुआ करती थी
कभी कभी तकिये पे वो भी मिला करती है
छोड़ आए हम वो गलियां

दिल दर्द का टुकड़ा है
पत्थर की डली सी है
ये अँधा कुँवा है या
ये बंद गली सी है
ये छोटा सा लम्हा है
जो ख़त्म नहीं होता
मैं लाख जलाता हूँ
ये भस्म नहीं होता

gulzar poetry hindi

Nazm ulajhi hui hai seene mein
misari atke hue hai hothon par
udate phirte hain titaliyon ki tarah
lafz kaagaz pe baithate hi nahi
kab se baitha hun main jaanam
saade kaagaz pe likh ke naam tera
bas tera naam hi mukammal hai
isse behtar bhi nazm kyaa hogi

gulzar poetry hindi


मुझको भी तरकीब सिखा कोई यार जुलाहे
अक्सर तुझको देखा है कि ताना बुनते
जब कोई तागा टूट गया या ख़तम हुआ
फिर से बाँध के
और सिरा कोई जोड़ के उसमें
आगे बुनने लगते हो
तेरे इस ताने में लेकिन
इक भी गाँठ गिरह बुनतर की
देख नहीं सकता है कोई
मैंने तो इक बार बुना था एक ही रिश्ता
लेकिन उसकी सारी गिरहें
साफ़ नज़र आती हैं मेरे यार जुलाहे

See also : love status , friendship shayari , life shyari

gulzar status in hindi

खामोश सा अफसाना पानी पे लिखा होता,
ना तुमने कहा होता, ना हमने सुना होता !

khaamosh sa aphasaana paanee pe likha hota,
na tumane kaha hota, na hamane suna hota!

gulzar romantic shayari

न तुम हमें जानो, न हम तुम्हें जाने,
मगर लगता है कुछ एसा, मेरा हमदम मिल गया !

na tum hamen jaano, na ham tumhen jaane,
magar lagata hai kuchh esa, mera hamadam mil gaya!

gulzar shayari about life

कच्चे रंग उतर जाने दो, मौसम है गुजर जाने दो !

kachche rang utar jaane do, mausam hai gujar jaane do!

gulzaar romantic shayari

कहीं देखो दो दिल मिल नहीं पाते, कहीं से निकल आए जन्मों के नाते!

kaheen dekho do dil mil nahin paate, kaheen se nikal aae janmon ke naate!

gulzar romantic status

जाने क्या सोच कर नहीं गुज़रा, एक पल रात भर नहीं गुज़रा!

jaane kya soch kar nahin guzara, ek pal raat bhar nahin guzara!

gulzar shayari about life

तुजसे नाराज नहीं जिंदगी, हैरान हुं मै!

tujase naaraaj nahin jindagee, hairaan hun mai!

gulzaar shayari about life

नाम गुम जाएगा, चेहरा ये बदल जाएगा,
मेरी आवाज ही पेहचान है…गर याद रहे!

naam gum jaega, chehara ye badal jaega,
meree aavaaj hee pehachaan hai…gar yaad rahe!

gulzar romantic shayari

तुम गए, सब गया, कोई अपना ही मिट्टी तले दब गया!

tum gae, sab gaya, koi apna hee mittee tale dab gaya!

shayari in hindi

कतरा कतरा मिलती है, कतरा कतरा जीने दो…जिंदगी है!

katara katara milatee hai, katara katara jeene do…jindagee hai!

gulzaar shayri in hindi

दो नैनों में आसुं भरे है, निंदीया कैसे समाए?

do nainon mein aasun bhare hai, nindeeya kaise samae?

Thanks for viewing the post. Hope you like it
Have a great day 🙂

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here